Breaking News

67 वर्षों की परंपरा का होगा निर्वाह, सिंधी समाज जलाएगा 81 फ़ीट ऊंचा रावण।

Screenshot_20200314-220137_Facebook

*67 वर्षों की परंपरा का होगा निर्वाह, सिंधी समाज जलाएगा 81 फ़ीट ऊंचा रावण*

।सिंधी समाज इस वर्ष भी अपनी 67 वर्ष पुरानी परंपरा को जारी रखते हुए रावण दहन का भव्य और विशुद्ध पारिवारिक आयोजन करेगा।

चंद्रशेखर महाजन खण्डवा मध्यप्रदेश

सिंधी समाज दशहरा उत्सव समिति के प्रवक्ता कमल नागपाल ने बताया कि प्रारंभिक तैयारियों का अवलोकन करने और शेष बचे कार्य का विभाजन करने के लिए सिंधी धर्मशाला में समिति की एक बैठक सम्पन्न हुई।अध्यक्ष गेहीराम सीतलानी ने इस अवसर पर कहा कि समाज की गौरवशाली परंपरा जारी रखी जायेगी।सचिव नानकराम चंदवानी ने उपस्थित सदस्यों से सुझाव मांगे।
इस वर्ष आयोजन को और अधिक गरिमामय करने,व्यवस्था सुदृढ़ करने और गणमान्य अतिथियों के लिए विशेष बैठक व्यवस्था के लिए अतिरिक्त ध्यान रखा जाएगा।
सभा के प्रारंभ में अंकेक्षक गोपालदास पमनानी का अध्यक्ष गेहीराम सीतलानी ने और विशेष सलाहकार अनिल भगवानदास आरतानी का सचिव नानकराम चंदवानी ने पुष्पहार से स्वागत किया।
उल्लेखनीय है कि 8 अक्टूबर 2019 मंगलवार शाम 7 बजे से नेहरू स्कूल ग्राउंड पर सिंधी समाज द्वारा दशहरा उत्सव का पारंपरिक आयोजन होगा।उज्जैन के महावीर प्रसाद जैन द्वारा 81 फ़ीट ऊंचे रावण का पुतला बनाया जाएगा।हरदा के मो हुसैन द्वारा आकर्षक मैदानी आतिशबाजी का प्रदर्शन किया जाएगा।
समिति के सदस्यों के सहयोग से शिवकाशी की गगनचुम्बी आतिशबाजी के साथ कार्यक्रम होगा।
दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों के अतिथियों की गौरवमयी उपस्थिति में इस कार्यक्रम का संचालन प्रदीप जैन करेंगे।
सिंधी समाज दशहरा उत्सव समिति के संरक्षक शंकरलाल तीर्थानी,अध्यक्ष गेहीराम सीतलानी,सचिव नानकराम चंदवानी,कोषाध्यक्ष मोहन दीवान,
अंकेक्षक गोपालदास पमनानी,विशेष सलाहकार अनिल आरतानी,संजय सभनानी,श्याम हेमवानी, उपाध्यक्ष गिरधारी लाल लालवानी,मोहनलाल विधाणी,सुरेश गुरबानी,राजेश परचानी,मनोज गेलानी,अशोक आहूजा,प्रवक्ता कमल नागपाल सहित समिति के सदस्य महेश चंदवानी,सह सचिव राम वासवानी,पार्षद विक्रम सहजवानी,पार्षद सागर आरतानी,सह कोषाध्यक्ष किशोर लालवानी और सक्रिय सदस्य मनोहरलाल संतवानी आदि उपस्थित हुए।
इस बैठक का संचालन कोषाध्यक्ष मोहन दीवान ने किया और आभार विशेष सलाहकार अनिल आरतानी ने व्यक्त किया।

Related Articles

Back to top button
Close