उत्तर प्रदेश

चिन्मयानंद केस : जेल में बंद छात्रा की जमानत पर 29 को सुनवाई कर हाईकोर्ट

IMG-20191031-WA0057
20191030_140350
IMG-20191030-WA0009
IMG-20191029-WA0080
IMG-20191029-WA0081
businesscard10_29_224733

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने स्वामी चिन्मयानंद से ब्लैकमेल करने की आरोपी रेप पीड़िता की जमानत याचिका सुनवाई के लिए 29 नवंबर की तारीख लगाई है। कोर्ट ने इस जमानत अर्जी पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है।

यह आदेश न्यायमूर्ति मंजूरानी चौहान ने दिया है। बुधवार को इस मामले में स्वामी चिन्मयानंद की तरफ से जवाब दाखिल किया गया। कोर्ट को बताया गया कि मामले की जांच कर रही एसआईटी अधीनस्थ अदालत में चार्जशीट दाखिल करने जा रही है। उधर, पीड़िता के वकील का कहना था कि जांच एजेंसी शासन के दबाव में सही जांच नहीं कर रही है। यह भी कहा गया कि पीड़िता की ओर से दिल्ली में की गई शिकायत अब तक दर्ज नहीं की गई है। कोर्ट ने जमानत याचिका पर राज्य सरकार से जवाब मांगते हुए 29 नवंबर की तारीख लगाई है।

इससे पहले एसआईटी ने शाहजहांपुर सीजेएम कोर्ट जाकर इस केस के जुड़े दो आरोप पत्र दाखिल किया। आरोप पत्र 4700 पन्ने में दाखिल किए गए। आरोप पत्र पर जेल से बुलाकर आरोपियों से हस्ताक्षर कराए गए। इसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। सबसे पहले जेल से दुराचार के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को सीजीएम कोर्ट लाया गया, उन्हें अंदर ले जाकर आरोप पत्र पर हस्ताक्षर कराया गया। इसके बाद उन्हें पुनः जेल में दाखिल कर दिया गया। इसके बाद छात्रा, उसके साथी संजय, विक्रम और सचिन को सीजीएम कोर्ट लाया गया। सीजीएम कोर्ट में छात्रा और उसके साथी अलग अलग खड़े हुए थे। उन्होंने कोई बातचीत नहीं की। बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया, भारी गहमागहमी रही।

Back to top button
Close