राजस्थान

अवैध खनन पर एक्सवेटर जब्त,1.45 लाख जुर्माना वसूला

Screenshot_20200314-220137_Facebook

*बिंग ब्रेकिंग न्यूज नेटवर्क रामसर बाड़मेर*

 

*अवैध खनन पर एक्सवेटर जब्त,1.45 लाख जुर्माना वसूला*

 

*बाड़मेर /रामसर* तहसील क्षेत्र के विभिन्न गांवों मंे अवैध खनन की शिकायतें मिलने पर कार्रवाई करते हुए एक्सवेटर जब्त करने के साथ 1 लाख 45 हजार 520 रूपए का जुर्माना वसूला गया।

खनि अभियंता गोरधनराम ने बताया कि रामसर तहसील क्षेत्र के बूठिया, झेलून, मापूरी में खनिज मूर्रम के अवैध खनन से संबंधित प्राप्त हो रही शिकायतों एवं सोशल मीडिया में चल रही खबरो पर कार्यवाही के लिए रामसर पुलिस जाब्ते के साथ तकनीकी कार्मिकों ने सोमवार को प्रातः 11.30 बजे आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान झैलून में खातेदारी खेत में एक्सवेटर सेनी 210 सी खनिज मूर्रम का अवैध खनन करते हुए पाया गया। इस पर मौके पर हल्का पटवारी को बूलाया गया एवं खातेदारी भूमि की जानकारी देने पर पाया कि यह अवैध खनन खसरा न. 468/295 में हो रहा है जिसके खातेदार घमूराम पुत्र आत्मराम , हरलाल पुत्र टीलूराम धनाराम , मदनलाल वगैरह की सयुंक्त खातेदार है। अवैध खनन में चैन मोउटेंड एक्सवेटर का प्रयोग किया जा रहा था। विभागीय टीम एवं पुलिस को देखकर मौके से आपरेटर चाबी समेत भाग गया। उन्हेंने बताया कि इस पर मशीन को विभागीय नियमों के जब्त कर निकटतम पुलिस थाना गडरा रोड पर ले जाने के लिए ट्रोला की व्यवस्था कर मौके पर अन्य मशीन के आपरेटर को बूलाया गया। लेकिन मशीन में इलेक्ट्रोनिक एवं हाइड्रोलिक सिस्टम होने से चालू नहीं हो पायी । जिस पर पुलिस थाना गडरा रोड एंव उपखंड अधिकारी रामसर को सूचित कर पुलिस थाना गडरा रोड का जाब्ता बुलाया गया। तत्पश्चात मशीन के मालिक दायम खान एंव उसका भाई रहमान खान मौके पर उपस्थिति होकर मौके पर ही मशीन की जुर्माना राशि जमा करने के लिए प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया। इस पर नियमानुसार जुर्माना 1 लाख 45 हजार 250 रूपए वसूल कर मशीन को मुक्त किया गया। साथ ही हिदायत दी गई कि भविष्य में मशीन अवैध खनन स्थल पर नही लगाए। खनि अभियंता ने बताया कि तहसील रामसर में खनिज मूर्रम के अवैध खनन के रोकथाम के लिए प्रभावी कार्यवाही के लिए विकास अधिकारी रामसर से खनिज मूर्रम के उपयोग करने वाले समस्त ठेकेदारो एवं निर्माण कार्यो की जानकारी के लिए पत्र लिखा गया है। साथ ही खातेदारी भूमि में अवैध खनन के मामलो में खातेदारी निरस्त के प्रस्तावित 13 प्रकरणों की अध्यतन जानकारी मांगी गई है।

Related Articles

Back to top button
Close