Breaking News

गढवा-पुलिस ने कांडी के सेमौरा में स्थित राधाकृष्ण मंदिर में चोरी हुई श्री राधा कृष्ण की प्रतिमा बरामद कर लिया है

photo 80 21-20-45
20200110_110622
20200113_154141
20200116_103341
20200118_112721

गढ़वा -: पुलिस ने मूर्ति चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। साथ ही कांडी के सेमौरा में स्थित राधाकृष्ण मंदिर से चोरी हुई श्री राधा और कृष्ण जी की प्रतिमा को बरामद कर लिया है। पुलिस ने चोरी की घटना में संलिप्त गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी।
एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों में कांडी थाने के बलियारी गांव निवासी हरिश्वर नाथ दूबे उर्फ कमला दूबे का पुत्र अमित कुमार दूबे, पलामू जिला अंतर्गत रेहला थाना क्षेत्र के डंडिला कला ग्राम निवासी हिदायतउल्लाह अंसारी का पुत्र दिलकश रौशन, पांकी थाना क्षेत्र के हुरलौंग ग्राम निवासी अमीर अंसारी की पुत्री समीना खातुन तथा बिहार के डेहरी निवासी शैलेन्द्र कुमार का नाम शामिल है।
एसपी ने बताया कि विगत 4 जनवरी की रात्रि में कांडी थाना क्षेत्र के सेमौरा गांव के राधाकृष्ण मंदिर से श्री राधा और कृष्ण जी अष्टधातु की दो प्रतिमा चोरी होने के मामले में कांडी थाना कांड संख्या 3/2020 के तहत भादवि की धारा 461/379 दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया गया था। एसडीपीओ बहामन टूटी के नेतृत्व में स्पेशल टीम गठित की गई थी।
एसआईटी ने कांडी थाने के बलियारी गांव निवासी अमित कुमार दूबे को थाने में लाकर पूछताछ की। अमित कुमार दूबे ने पुलिस को इस कांड में अपने सहयोगी दिलकश रौशन और जियाउद्दीन अंसारी उर्फ गुड्डू अंसारी, भवनाथपुर थाना क्षेत्र के बेलवादामर ग्राम निवासी शमसुद्दीन अंसारी के पुत्र जियाउद्दीन अंसारी उर्फ गुड्डू अंसारी (वर्तमान निवासी नावाबाजार पलामू) के भी संलिप्त होने की जानकारी दी।
अमित दूबे की निशानदेही पर पलामू जिला के पांकी थाना क्षेत्र के हुलांग ग्राम से दिलकश रौशन को चोरी हुई दोनों प्रतिमाओं एवं अपराध में प्रयुक्त बाईक के साथ गिरफ्तार किया गया। साथ ही प्रतिमा छिपाने में सहयोग करने के जुर्म में पांकी थाने के हुरलौंग से उसके महिला सहयोगी समीना खातून पति आमिर अंसारी को गिरफ्तार किया।
दिलकश रौशन ने पुलिस को जानकारी दी कि प्रतिमा को बेचने के लिए अपने पूर्व के परिचित बिहार राज्य के डेहरी ऑन सोन के सुनार शैलेंद्र कुमार से संपर्क किया जो यहां आकर मूर्ति को देखकर धातु की जांच के लिए मूर्ति से धातु को काटकर ले गया और बोला कि 13-14 जनवरी तक मूर्ति को बेचवा देने की बात कही।
एसआईटी ने डेहरी ऑन सोन में सुनार शैलेंद्र कुमार के घर छापेमारी कर प्रतिमा से काटा गया धातु के साथ उसे गिरफ्तार किया। अपराधी दिलकश रौशन ने पुलिस के समक्ष विगत 5 मई 2019 की रात्रि में कांडी थाने के खरौंधा गांव के राम जानकी मंदिर से अष्टधातु निर्मित प्रतिमा चोरी की घटना में भी अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।
दिलकश रौशन का अपराधिक इतिहास
एसपी ने बताया कि दिलकश रौशन पूर्व में भी कई कांडों में संलिप्त रहा है। उस पर डंडई थाने में लवकुश कुमार मेहता ने दिलकश पर अपनी लड़की रिंकू कुमारी को बहला-फुसलाकर शादी के नियत से अपहरण करने का आरोप लगाया है। जिसमें दिलकश रौशन के विरुद्ध कोर्ट में चार्ज शीट समर्पित किया गया है।
इसके अलावा गढ़वा थाने में रमना के पशु चिकित्सक डॉ कृष्ण कुमार सिंह के पिपरा कला आवास से ताला तोड़कर सोना चांदी का गहना एवं नगद 1 लाख 45 हजार रुपए की चोरी करने का मामला दर्ज है। अनुसंधान के क्रम में गुड्डू अंसारी, दिलकश रौशन, राकेश कुमार एवं शैलेंद्र कुमार के पास से चोरी किए गए सामान बरामद किया गया था। इस मामले में भी कोर्ट में चार्ज शीट समर्पित हो चुका है। इसके साथ ही कांडी थाने के खरौंधा गांव के राम जानकी मंदिर से चोरी की गई मूर्ति में भी संलिप्तता पाई गई है।
अन्य लोगों की संलिप्तता उजागर
अनुसंधान के क्रम में चोरी के मामले में रेहला निवासी रामनाथ राम के पुत्र राकेश कुमार, बिहार के डेहरी थाना क्षेत्र के मोहनबिगहा ग्राम निवासी हरिनंदन साव के पुत्र शैलेन्द्र कुमार की संलिप्तता उजागर हुई है।

Related Articles

Back to top button
Close