Breaking News

ग्रीष्म ऋतु से पहले देवघर जिला अंतर्गत पेयजल व्यवस्था को अधिकारी करें दुरूस्तः उपायुक्त

Screenshot_20200131-135058_Business Card Maker
Screenshot_20200131-140356_Business Card Maker
Screenshot_20200202-162010_Business Card Maker
20200205_142001

*सूचना भवन, देवघर*

=================

*जिला जनसम्पर्क कार्यालय*

====================

*प्रेस विज्ञप्ति संख्या-317*

*दिनांक -14/02/2020*

====================

*■ ग्रीष्म ऋतु से पहले देवघर जिला अंतर्गत पेयजल व्यवस्था को अधिकारी करें दुरूस्तः उपायुक्त….*

==================

उपायुक्त श्रीमती नैन्सी सहाय द्वारा कार्यपालक अभियंता, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, देवघर को निदेशित करते हुए कहा है कि आगामी ग्रीष्म ऋतु, 2020 के दौरान पेयजल आपूर्ति से संबंधित संकट उत्पन्न न हो, इसके लिए आवश्यक है कि पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा ग्रीष्म ऋतु के पूर्व हीं सारी तैयारी कर ली जाय।

इसके अलावा उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गयी कि पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल, देवघर अन्तर्गत जिले के विभिन्न कनीय अभियन्ता एवं सहायक अभियन्ता को प्रखण्डवार नोडल पदाधिकारी के रूप में नामित किया गया है, ताकि प्रखण्डों के सभी ग्रामीण बसावट में शुद्ध पेयजल की लगातार आपूर्ति की जा सके। साथ हीं उनके द्वारा बतलाया गया कि श्री अमित कुमार-01, कनीय अभियन्ता (9031575919) को देवघर प्रखण्ड का नोडल पदाधिकारी नामित किया गया है। इसके अलावा मोहनपुर के नोडल पदाधिकारी के रूप में श्री जेम्स मुर्मू, कनीय अभियन्ता (8002515273), सारवां के नोडल पदाधिकारी के रूप में श्री गोपाल दास, सहायक अभियन्ता (7004116299), सोनारायठाढ़ी के नोडल पदाधिकारी के रूप में श्री बालेश्वर प्रसाद, कनीय अभियन्ता (7870431591) एवं देवीपुर के वरीय नोडल पदाधिकारी के रूप में श्री सत्येन्द्र प्रसाद तांती, सहायक अभियन्ता (9204296423) को नामित किया गया है।

इसके अलावे उपायुक्त श्रीमती नैन्सी सहाय द्वारा संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया है कि सभी नोडल पदाधिकारी द्वारा अपने-अपने प्रखण्ड में क्षेत्रावार एक व्हाट्सएप्प ग्रुप बनाया जाय एवं उसमें संबंधित क्षेत्र के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, सी0डी0पी0ओ0, मुखिया एवं जलसहिया को शामिल करेंगे। साथ हीं उसमें स्वच्छता के प्रखण्ड स्तरीय कर्मी, जिला समन्वयक संबंधित सहायक अभियंता, स्वयं अधोहस्ताक्षरी एवं अधीक्षण अभियंता भी शामिल रहेंगे; ताकि समन्वय स्थापित कर शिकायतों का त्वरित निष्पादन किया जा सके। वहीं उनके द्वारा स्पष्ट निदेश दिया गया कि किसी भी परिस्थिति में प्रखण्डवार नोडल पदाधिकारियों का मोबाईल नं0 बन्द नहीं होना चाहिए। फिर भी यदि किसी नोडल पदाधिकारी का मोबाईल नं0 बन्द पाया जाता है तो उनके विरूद्ध कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाऐगी।

वहीं उपायुक्त द्वारा कहा गया कि सभी नोडल पदाधिकारी प्रखण्ड मुख्यालय में स्थायी रूप से आवासन करेंगे एवं प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व संबंधित सहायक अभियंता से समन्वय स्थापित कर प्रखण्ड शिकायत कोषांग से प्राप्त शिकायतों को पंजीकृत कराते हुए ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति से समन्वय स्थापित कर समाधान करना सुनिश्चित करेंगे। इस दौरान उपायुक्त द्वारा बतलाया गया कि प्रमण्डल में स्थापित कन्ट्रोल रूम के फोन नं0 06432-237305 अथवा श्री सुजित कुमार मो0न0-8603863273 व श्री राजेश कुमार झा, मो0न0- 7488721215 एवं श्री रीतिक राज मो0न0-7646045525 पर भी कॉल कर उक्त विषय के संबंध में शिकायत दर्ज करवाया जा सकता है। बेख़ौफ़ इंडिया रिपब्लिक न्यूज़ चैनल डिस्टिक ब्यूरो चीफ सोनी देवी कानपुर से

Related Articles

Back to top button
Close