Breaking News

दिल्ली के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने क्या कहा जरूरी चीजों की दुकानें, फैक्ट्रियों को 24 घंटे काम करने की मंजूरी : केजरीवाल

Screenshot_20200314-220137_Facebook

दिल्ली के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने क्या कहा
जरूरी चीजों की दुकानें, फैक्ट्रियों को 24 घंटे काम करने की मंजूरी : केजरीवाल
कोरोना को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को एक बार डिजीटल प्रेस वार्ता की. केजरीवाल ने कहा कि जो आवश्यक सामान लेकर जा रहा है और उसके पास ई पास नहीं तो भी उस व्यक्ति को सामान ले जाने की अनुमति दी जानी चाहिए.
दिल्ली : पूरा विश्व आज कोरोना वायरस नामक महामारी से जूझ रहा है. भारत में लॉकडॉउन है. आज एक बार फिर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजीटल प्रेस वार्ता की.अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं वाली दुकानें, फैक्ट्रियों को 24 घंटे काम करने की अनुमति दे दी गई है.उन्होंने कहा कि कई सारे होम डिलीवरी वाले फूड चेन को दिल्ली में सामान मुहैया कराने की अनुमति दी गई है. इसके लिए कंपनी का पहचान पत्र आवश्यक होगा.केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में आज कोरोना के 36 केस पाए गए हैं. पिछले एक दिन में एक केस में बढ़ोत्तरी हुई है. अभी कोरोना पर लगाम लगाने का वक्त है क्योंकि यह बड़ी तेजी से फैलता है. सब लोग घरों में रहें. जब अधिक आवश्यकता हो तो ही लोग घरों में ही रहें. आवश्यक सेवा जैसे दूध, सब्जी, दवाई इत्यादी लोगों को ई पास देना शुरू कर दिया गया है. सीएम ने कहा कि अगर ई- पास चाहिए तो 1031 नंबर पर फोन करने के बाद वाट्सऐप नंबर पर पास आ जाएगा.केजरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन के समय लोग अच्छा से रहें. आवश्यक दुकानों में सभी सामान मौजूद होने चाहिए इस बात पर सरकार ध्यान दे रही है.केजरीवाल ने कहा कि जो आवश्यक सामान लेकर जा रहा है और उसके पास ई पास नहीं तो भी उस व्यक्ति को सामान ले जाने की अनुमति दी जानी चाहिए.बता दें कि बुधवार दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के पांच नए मामले सामने से कुल संख्या के बढ़कर 35 हो जाने के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि उनकी सरकार ने लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए ई-पास जारी करने का फैसला किया है.केजरीवाल ने डिजीटल प्रेस वार्ता में कहा कि दूध विक्रेता, सब्जी विक्रेता और किराना दुकानदार जैसे आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग अपने मोबाइल फोन पर पास पाने के लिए हेल्पलाइन 1031 पर कॉल कर सकते हैं.मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग दैनिक उपयोग की वस्तुओं को खरीदने के लिए पास की दुकानों तक पैदल जा सकते हैं.मेडिकल कर्मियों को घर खाली करने के लिए उनके मकानमालिकों द्वारा परेशान किए जाने की खबरों के बीच केजरीवाल ने घर के मालिकों से अनुरोध किया कि वे उन लोगों से दुर्व्यवहार नहीं करें जो वायरस से लड़ाई लड़ रहे हैं.उन्होंने कहा कि चिकित्सा कर्मचारियों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि मकान मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. और एक महीने का भी किराया ना ले थी दिल्ली की खबर
लॉकडाउन लागू होने के बाद ज्यादातर औधोगिक संस्थान में ताला लटक गया है. वहीं प्रदेश कमाने गए मजदूरों के समक्ष रहने से खाने तक की समस्या उत्पन्न हो गयी है. कोरोना वायरस को देखते हुए पूरा देश लॉकडाउन है. ऐसे में अधिकांश छोटे-बड़े उद्योगों में ताला लटक गया है. इससे यहां पर काम कर रहे मजदूर भी बैठ गए हैं. मजदूरों ने सोशल मीडिया के माध्यम से मदद की गुहार लगायी है. वीडियो में मजदूरों का कहना है कि उन्हें भोजन नहीं मिल रहा. जिन स्थानों पर वह लोग काम करते थे उसके मालिक भी ध्यान नहीं दे रहे.पढ़ें- लॉकडाउन के कारण कोरोना से पहले भूख से मरने पर मजबूर हो रहे है लोग यह थी दिल्ली की खबर,,,, अब बात करते हैं देश दुनिया की दुनिया में लगभग 198 देशों में करोना का कहर है 100 देशों से मौत का आंकड़ा आ चुका है लगभग 21000 लोग अभी तक मर चुके हैं वही मरने का आंकड़ा यूरोप में ज्यादा हुआ है अब भारत की बात करते हैं भारत में लगभग 670 लोग कोरोना पॉजिटिव पाया गया वही मरने की संख्या भारत में 13 पहुंच चुका है जिसमें करोना से 43 लोग ठीक हो चुके हैं मैं आपको बता दूं भारत के अलग-अलग राज्यों में कितने लोग करोना से संक्रमित है दिल्ली में 36 लोग, आंध्र प्रदेश में 11, जम्मू कश्मीर 11, बिहार 6, हरियाणा 30, मध्य प्रदेश 15, महाराष्ट्र 128, पांडुचेरी 1, तमिलनाडु 26, चंडीगढ़ 7, लद्दाख 13, उत्तराखंड 5, गुजरात 45, राजस्थान 38, उत्तर प्रदेश 37, केरल 118, पंजाब 33, तेलंगाना 41, हिमाचल 3, पश्चिम बंगाल 9, कर्नाटक 41, ओड़िशा 2, यह सभी राज्य हैं कोरोना पॉजिटिव से ग्रसित है वहीं झारखंड समेत बाकी राज्यों के लिए अच्छी बात है कि वहां पे करोना संक्रमित नहीं है रिपोर्ट रणवीर कुमार गुप्ता संगम विहार दिल्ली

Related Articles

Back to top button
Close