देश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8:00 बजे कोरोना महामारी में लगाए गए लॉकडाउन के बीच फिर देश को करेंगे संबोधन

WhatsApp Image 2020-03-07 at 19.50.37
IMG-20200523-WA0023

*प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8:00 बजे कोरोना महामारी में लगाए गए लॉकडाउन के बीच फिर देश को करेंगे संबोधन* दिल्ली:-इस वक्त की बड़ी खबर दिल्ली से यह है कि एक बार फिर से देश के लोगों को पीएम नरेंद्र मोदी संबोधित करने वाले हैं. वह रात 8 बजे लाइव होंगे!बताया जा रहा है कि लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर फैसला हो सकता है! क्योंकि कल कई सीएम ने लॉकडाउन बढ़ाने की अपील भी की थी।पीएमओ ने अपने ऑफिशियल ट्विटर पर इसकी जानकारी दी है। लॉकडाउन बढ़ाने पर हो सकता है फैसला।

बीते दिन पीएम ने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी. इस बैठक के बाद कई मुख्यमंत्रियों ने यह साफ संकेत दिया था कि देश में लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया जा सकता है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई राज्यों के सीएम ने लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की थी. आज रात के 8 बजे के संबोधन में प्रधानमंत्री कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।

बड़े फैसले को लेकर कर चुके हैं संबोधित कोरोना संकट के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने 4 बार देशवासियों को संबोधित कर चुके हैं। यह संबोधन उनका 5 वी बार होगा ।कोरोना महामारी के चयन को तोड़ने के लिए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का एलान किया गया था ।चाहे कोरोना वॉरियर्स के सम्मान को लेकर ताली और थाली बजाने की बात हो. चाहे वह कोरोना संक्रमण अस्पताल के डॉक्टर्स नर्स वार्ड बॉय सफाई कर्मी और पुलिसकर्मी इनके ऊपर फूलों की वर्षा भी की गई थी। ताकि इनका हौसला अफजाई की जा सके। इसके अलावे वह लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा भी खुद आकर किए हैं।बता दें कि देश में कोरोना का संकट दिन प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहा है। भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 70 हजार को पार कर गई है। कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 70,756 है. इनमें 46008 एक्टिव पेशेंट है. 2293 लोगों की मौत हुई है जबकि 22455 मरीज इस बीमारी को हराने में कामयाब भी हुए हैं। अब देखना होगा कि प्रधानमंत्री मोदी कोरोना महामारी में लगाये गए लॉकडाउन को क्या बढ़ाया जाएगा। आर्थिक संकट पर भी बात हो सकती हैं वही, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन 3 के बीच 4 मई को कुछ चीजों में ढील दी है और केजरीवाल ने कहां दिल्ली में 17 मई को बाकी के चीजों में भी ढील देनी चाहिए। कितनी ढील देनी चाहिए ? इसको लेकर जनता से उन्होंने सुझाव मांगा है। अब देखना होगा की दिल्ली की जनता किस तरह से सुझाव देती है। रिपोर्ट रणवीर कुमार गुप्ता

Related Articles

Back to top button
Close