देश

रेल यात्रियों के लिए बड़ी दुःख भरी खबर सामने आई है, दिल्ली आनंद विहार रेल टर्मिनल से आज से नहीं चलेगी कोई ट्रेन, ये है बड़ी वजह

WhatsApp Image 2020-03-07 at 19.50.37

*रेल यात्रियों के लिए बड़ी दुःख भरी खबर सामने आई है, दिल्ली आनंद विहार रेल टर्मिनल से आज से नहीं चलेगी कोई ट्रेन, ये है बड़ी वजह*

भारतीय रेलवे सोमवार से नई दिल्ली के आनंद विहार रेलवे टर्मिनल से किसी ट्रेन का परिचालन नहीं की जाएगी. टर्मिनल के सभी प्लेटफॉर्म का उपयोग कोविड-19 मरीजों को क्‍वारंटाइन करने में किया जाएगा. क्‍वारंटाइन सेंटर रेल के डिब्‍बों में बनाया जाएगा. ये बोगियां आनंद विहार टर्मिनल के प्‍लेटफॉर्म पर खड़ी की जाएंगी. सूत्रों ने रविवार को बताया कि शहर में कोविड-19 मरीजों के लिए बिस्तरों की कमी दूर करने के लिए केन्द्र दिल्ली सरकार को ट्रेन के डिब्बे मुहैया कराएगा.दिल्ली के बड़े रेलवे स्टेशनों में से एक है आनंद विहार रेलवे स्टेशन.

सूत्रों के हवाले से फिलहाल पता चला है की आनंद विहार रेलवे स्टेशन से चलने वाली सभी पांच ट्रेनें अगले आदेश तक पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से चलेंगी. गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा था कि बिस्तरों की कमी को देखते हुए केन्द्र सरकार दिल्ली के ट्रेन के 500 ऐसे डिब्बे उपलब्ध कराएगा. सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि भारतीय रेलवे पहले से ऐसे 54 डिब्बे शकूरबस्ती मेंटेनेंस डिपो में तैनात कर चुकी है और बाकी डिब्बे आनंद विहार रेलवे स्टेशन के सात प्लेटफॉर्म पर खड़ी करने की योजना बनाई है. आनंद विहार रेलवे स्टेशन से उत्तर रेलवे पांच ट्रेनें चला रहा था. ये ट्रेनें बिहार में मोतिहारी, बगहा , नरकटियागंज रक्सौल और मुजफ्फरपुर और दो ट्रेनें उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जा रही थीं. रेलवे ने अभी तक चार राज्यों में 204 क्‍वारंटाइन डिब्बे तैनात किए हैं. जो कि इलाज के लिए सक्रिय रूप से कार्य चल रहा है.

कोरोना वायरस के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहा है. कोरोना महामारी थमने का नाम ही नहीं ले रहा हैं

सरकार ने इसलिए यह फैसला लिया गया , क्योंकि राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी के मामले कम होने के नाम नहीं ले रहे हैं. दिल्ली में कोरोना महामारी के रविवार को एक दिन में रिकॉर्ड सबसे ज्यादा 2224 नए मरीज सामने आए हैं. जबकि देश की राजधानी में संक्रमितों की कुल संख्या अब 41182 हो गई है. वहीं, इस बीमारी से मरने वालों का आंकड़ा 1327 हो गया है. जिसमें से 15823 लोग इलाज ठीक हो चुके हैं. देश की राजधानी में इस दौरान 56 लोगों ने कोरोना महामारी की वजह से अपनी जान गवा चुके हैं. अब दिल्‍ली में इस बीमारी से मरने वालों का कुल आंकड़ा 1327 हो गया है.

यह पहली बार है कि जब दिल्ली में लगातार तीसरे दिन रविवार को 2000 से अधिक नए मामले सामने आए. इससे पहले 12 जून को सर्वाधिक 2137 नए मामले सामने आए थे. जबकि दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में बताया कि कोरोना महामारी के कारण जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 1327 हो गई है. इसके अलावा इस जानलेवा महामारी से दिल्‍ली में 41182 मामले हो गए हैं. वहीं, 15823 लोग डिस्‍चार्ज होकर घर लौट चुके हैं. इस समय दिल्‍ली में 24032 एक्टिव केस हैं. जबकि 695 मरीज आईसीयू में हैं, तो 182 वेंटीलेटर पर हैं. देश में कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र ,तमिल नाडु, दिल्ली और गुजरात में है. रिपोर्ट रणवीर कुमार गुप्ता

Related Articles

Back to top button
Close